Skip to product information
1 of 2

Bharat Me Global Warming- Vigyan, Prabhav aur Raajniti

Bharat Me Global Warming- Vigyan, Prabhav aur Raajniti

भारत मे ग्लोबल वार्मिंग, विज्ञान , प्रभाव और राजनी
Publisher: Eklavya
Author: Nagraj Adve / नागरज अड्वे
Translator: Rajendra Singh Negi / राजेंद्र सिंह नेगी
ISBN: 978-93-94552-07-4
Binding: Paperback
Language: English
Pages: 80
Published: 2022
Regular price ₹ 80.00
Regular price Sale price ₹ 80.00
Sale Sold out
Shipping calculated at checkout.

Shipping & Returns

Dimensions

ग्लोबल वॉर्मिंग हमारे दौर की सबसे बड़ी चुनौती   है। दिक़क़त यह है कि इस चुनौती का सामना करने के लिए जिस तरह की तैयारी की जानी  चाहिए उसका अभाव बना हुआ है। मीडिया और

राजनीति में इस मसले पर जो हावी विमर्श है  वह अभी भी बुनियादी बदलावों की ज़रूरत से कन्नी काटता नज़र आ रहा है ।


इसी को ध्यान में रखते हुए यह किताब  ग्लोबल वॉर्मिंग की बुनियादी वजहों, इसके वैज्ञानिक आयामों, इसके लिए ज़िम्मेदार कारकों और इस दिशा में उठाए गए कदमों की चर्चा

सरल व समझ में आने वाली भाषा में करती है। जलवायु संकट की गम्भीरता को समझते हुए इससे निपटने के लिए ज़रूरी व्यक्तिगत व सामूहिक कार्यवाहियों की ओर ले जाना ही

किताब का उद्देश्य है।



View full details